Bhoomi Pujan

हृदय में भगवान श्री चैतन्य महाप्रभु के सन्देश को जन-सामान्य में वितरित करने की निर्मल मनोकामना के साथ अलीगढ के भक्तों ने श्री महेश्वर प्रताप वार्ष्णेय जी द्वारा दान की हुयी भूमि पर दिन-रात मेहनत की और अंततः वह दिन आ ही गया जब प. पु. गोपाल कृष्ण गोस्वामी, प. पु. नवयोगेन्द्र स्वामी, प. पु. क्रतु महाराज और श्रीमान देवकीनन्दन दास के पावन उपस्थिति में “भूमि पूजन उत्सव” मनाया गया ।

डा. वार्ष्णेय ने इस्कॉन के द्वारा हरिनाम और गीता-ज्ञान के विश्वभर में प्रचार से प्रेरित होकर ४ एकड़ भूमि दान स्वरुप इस्कॉन को भेंट की । वे स्वयं भी भगवद-गीता के उत्सुक अनुयायी हैं ।

सम्पूर्ण अलीगढ़ शहर में इस्कॉन के उत्साही युवा भक्तों ने हरिनाम संकीर्तन किया और आमंत्रण के पर्चे बांटे । राजस्थान और हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल, श्रीमान कल्याण सिंह के निवास स्थान पर भी हरिनाम और सत्संग का कार्यक्रम हुआ । उसकी पूर्व रात्रि में भक्तों ने अपने हाथों से शेषनाग को प्रतिष्ठित करने हेतु भूमि पर खुदाई की ।

अगले दिन प्रातः से ही मधुर कीर्तन के मध्य प. पु. क्रतु महाराज, उनकी धर्मपत्नी श्रीमती अमृतकेली दासी माताजी और कुछ वरिष्ठ भक्तों ने यज्ञ प्रारम्भ किया । प. पु. गोपाल कृष्ण गोस्वामी महाराज, प. पु. नवयोगेन्द्र स्वामी महाराज और श्रीमान देवकीनन्दन प्रभु की सौम्य उपस्तिथि में शेषनाग की प्रतिष्ठा हुयी, तत्पश्चात गौदान किया गया ।

सभी उपस्थित अतिथिगण और भक्तों ने वैष्णव गीत और कीर्तन का आनंद लेते हुए मंदिर का निर्माणकार्य अति शीघ्र पूर्ण करने का निश्चय किया । श्रीमान कल्याण सिंह जी ने इस्कॉन के प्रचार कार्यों को सराहा और भविष्य में किसी भी प्रकार की सहायता का आश्वासन दिया ।

उत्सव के अंत में सभी के लिए स्वादिष्ट प्रसाद और उत्साही कीर्तन हुआ ।

Read More about the Event at:

Dandavats.com

IskconDesireTree

Hindi IskconDesireTree